ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
 श्री राम जन्मभूमि मंदिर के मॉडल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जारी किया डाक टिकट व रामायण विश्व महाकोश' पर विशेष डाक आवरण
August 5, 2020 • Havlesh Kumar Patel • National

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। श्री राम जन्मभूमि मंदिर के भूमि पूजन एवं शिलान्यास कार्यक्रम को अविस्मरणीय बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 5 अगस्त को ‘श्री राम जन्मभूमि मंदिर के प्रतिरूप’ (Model of Shri Ram Janmabhoomi Temple, Ayodhya) पर आधारित डाक टिकट जारी किया गया। प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही 'रामायण विश्व महाकोश' (Global Encyclopaedia of the Ramayana) पर एक विशेष डाक आवरण व विरूपण भी जारी किया। उत्तर प्रदेश के चीफ पोस्टमास्टर जनरल कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने प्रधानमंत्री को डाक टिकटों का प्रथम सेट भेंट किया। पोस्टमास्टर जनरल विनोद कुमार वर्मानिदेशक डाक सेवाएँ लखनऊ परिक्षेत्र कृष्ण कुमार यादवप्रवर अधीक्षक डाकघर ज्ञान प्रकाशसत्येन्द्र प्रताप सिंह भी मौजूद रहे।

इस डाक टिकट एवं विशेष आवरण का विमोचन भूमि पूजन कार्यक्रम के पश्चात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेलउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक डॉ. मोहन भागवत एवं श्री जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास की गरिमामयी उपस्थिति में किया गया। यह कस्टमाइजड डाक टिकट और विशेष आवरण भारतीय डाक विभाग और उत्तर प्रदेश शासन के संस्कृति विभाग के अधीन अयोध्या शोध संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में जारी किया गया।

उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने बताया कि इस कस्टमाइजड डाक टिकट की 5 हजार शीट्स मुद्रित की गयीं हैं, जिनमें 60 हजार डाक टिकट उपलब्ध हैं। पोस्टमास्टर जनरल विनोद वर्मा ने बताया कि यह डाक टिकट फैज़ाबाद प्रधान डाकघर में बिक्री के लिये उपलब्ध होंगे।

निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि ‘ग्लोबल एनसाइक्लोपीडिया ऑफ़ द रामायण’ पर जारी किए गए विशेष आवरण में विभिन्न काल खंडों एवं विभिन्न देशों में मिलने वाले रामायण संस्कृति के प्रमाणिक साक्ष्यों की जानकारी दी गयी है। इस विशेष आवरण का मूल्य रु. 25/- रखा गया है तथा ये फिलेटलिक ब्यूरो के माध्यम से बिक्री किये जायेंगे।