ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
आयुक्त सहारनपुर मण्डल ने अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक, कहा- माॅस्क न लगाने वालों के विरूद्व विशेष अभियान चालाया जाये, शत प्रतिशत हो सैम्पलिंग
September 27, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर।  कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत आयुक्त सहारनपुर मण्डल संजय कुमार ने आज जिला पंचायत सभागार में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि पाजिटिव व्यक्ति मिलने पर उनके घर के आस पास व घर के सदस्यों का तत्काल सैंम्पल एकत्र किया जाये। इसके किसी भी प्रकार की कोई शिथिलता न बरती जाये। उन्होने कहा कि शहरी क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्रों मे पाॅजिटिव मिलने पर तत्काल सैनेटाइजेशन की कार्यवाही की जाये। सैनेटाईजेशन निरन्तर कराया जाये। उन्होने कहा कि माॅस्क न लगाने वालों के विरूद्व अभियान चलाया जाये और उनसे जुर्माना वसूला जाये। उन्होने निर्देश दिये कि आईएमए के अधिकारियों के साथ बैठक की जाये और उनके पास आ रहे रोगियों का विवरण/सूची उपलब्ध कराई जाये। उन्होने नोडल अधिकारी को निर्द्रेश दिये कि सभी कन्टेनमेंट जोन का निरीक्षण कर रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाये। सैम्पलिंग व काॅनटैक्ट ट्रेसिंग में कोई शिथिलता न बरती जाये।


उन्होने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत ग्रामों में साफ सफाई, वार्डो व गांवों में नियमित सफाई तथा वार्डो में फाॅगिग व सैनेटाईजर छिडकाव की भी समीक्षा की। उन्होने निर्देश दिेये कि कोरोना पाॅजिटिव मिलने पर तत्काल सैनेटाईजेशन की कार्यवाही की जाये। उन्होने कहा कि सैनेटाईजेशन न किये जाने पर सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्व विपरीत संज्ञान लिया जायेगा।
मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि अभी तक जनपद में 1 लाख 6 हजार 800 कोरोना जांच/सैम्पल किये जा चुके है। जिसमें 44176 आरटीपीसीआर, 61552 रैपिड एन्टीजेन्ट व 1072 ट्र नाॅट के सैम्पल एकत्र किये गये है। उन्होने बताया कि पाजिटिव आने पर तत्काल आर आर टी टीम पहुंचकर संक्रमति व्यक्ति को कोविड अस्पताल भेजने का कार्य कर रही है।
आयुक्त ने कहा कि ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई तथा घर से जल निकासी के लिए, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था आदि की जाये। इस अभियान में कोविड-19 रोग के संक्रमण के दृष्टिगत विशेष सावधानियां अपनाते हुए आवश्यक निर्देशों का अनुपालन किया जाये। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु और अधिक प्रचार प्रसार कराया जाये। उन्होने निर्देश दिये कि होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों से निरन्तर उनके स्वास्थ्य के बारे में बात करते रहे।


उन्होंने कहा कि कोविड-19 के नियंत्रण के लिये प्रत्येक सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध एण्टी लार्वा का प्रत्येक ग्राम पंचायत में छिड़काव कराया जाये। नगरीय क्षेत्रों में अनिवार्यरूप से फोगिंग व हैण्डपम्पों के आसपास सफाई कराई जाये। कहीं जलभराव न हो। सभी स्थानों पर नालियों एवं कूड़े की साफ सफाई पर विेशेष ध्यान दिया जाये। उन्होने कहा कि जो व्यक्ति सीएचसी, पीएचसी या जिला अस्पताल में आ रहा है उसका ऑक्सीजन लेवल टैस्ट अवश्य कराया जाये। उन्होने हाॅई रिस्क व लो रिक्स केस व कंटेनमेंट जोन के सम्बन्ध में भी समीक्षा की।


इसके पूर्व आयुक्त महोदय ने मुजफ्फरनगर मेडिकल काॅलेज जाकर मेडिकल स्टाॅफ, प्राचार्य व जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ कोरोना के बढ रहे संक्रमण के दृष्टिगत आवश्यक बैठक करते हुए निर्देश दिये कि प्रत्येक दिन कोरोना संक्रमित मरीजों से उनके स्वास्थ्य व अन्य विषयों पर बात की जाये। उनके स्वास्थ्य का प्रत्येक स्तर पर ध्यान रखा जाये। उन्होने निर्देश दिये प्रतिदिन एसडीएम कोरोना मरीजों से बात कर उनका हाल चाल जानेगे और प्रतिदिन ऑडिट रिपोर्ट प्रेषित की जायेगी। उन्होने निर्देश दिये कि मुख्य चिकित्साधिकारी वार्ड में जाकर स्वंय विजिट करे। इस अवसर पर उन्होने वीडियों काॅल के माध्यम से उपचार ले रहे कोरोना संक्रमित मरीजों से उनके स्वास्थ्य लाभ व अन्य विषयों के सम्बन्ध मेे बात भी की।  


इस अवसर पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे, नोडल अधिकारी डा0 इन्द्रमणि त्रिपाठी, एसजीपीजीआई के डाॅक्टर, मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रवीण चोपडा, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 आलोक कुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिह सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।