ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
अयोध्या में श्रीराम मंदिर के शिलान्यास पर घर-घर दीप जला, आतिशबाजी कर खुशियां मनाई
August 6, 2020 • Havlesh Kumar Patel • miscellaneous
डॉ शम्भू पंवार, नई दिल्ली।  श्री राम जन्मभूमि अयोध्या में यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा श्री राम का भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किए जाने पर पूरे भारतवर्ष में दिवाली की तरह  जश्न मनाया गया। देश की राजधानी दिल्ली में घर-घर दीप जलाए गए,मिठाई वितरित कर आतिशबाजी की गई, पार्क व सार्वजनिक स्थानों नाच, गाकर एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया।इस दिन को यादगार बनाने के लिए हर तरफ जय श्रीराम के उद्घोष से आकाश गुंजायमान हो रहे थे। महिलाएं, बच्चे, वृद्ध, युवक, युवतियां सभी का उत्साह देखने को था, मानो ऐसा लग रहा था कि आज दीपावली का पर्व मनाया जा रहा है। महिलाएं भी सज सवरकर अपने घरों के सामने, बालकोनी, छत पर दिए, मोमबत्ती जलाकर खुशी का इजहार कर रही थी।   
   शाहदरा में भारत वाटिका में नीम टीम के युवकों ने आज ऐतिहासिक दिन को बड़े उत्साह और उल्लास से मनाया और भारत वाटिका में 2500 मिट्टी के दीपक देशी घी में जलाए, युवकों ने दीपक से स्वास्तिक का चिन्ह, ओम का चिन्ह ,भारत का नक्शा, एवं जय श्री राम लिखकर भारत वाटिका को जगमग कर दीपावली की तरह खुशियां मनाई ।नीम के संस्थापक गौरव शर्मा की माता श्रीमती चित्रा शर्मा, प्रसिद्ध कवियत्री सरिता गुप्ता ने श्री राम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किया। वाटिका मे युवको, महिलाओ, पुरुषों ने दीप जलाए लड्डू का प्रसाद वितरण किया।  पार्थ शर्मा, सौरव शर्मा, राहुल गुप्ता, मनोज गुप्ता सहित कार्यकर्ता बड़े उत्साह से जय श्री राम के घोष  लगा रहे थे।  वसुंधरा एनक्लेव में शिक्षाविद एवं समाज सेविका रश्मि शर्मा ने उत्साह से दीपोत्सव मनाया उन्होंने कहा आज का ऐतिहासिक दिन करीब 500 वर्ष के बड़े लंबे इंतजार के पश्चात हमें देखने को मिला है। यह गौरवशाली दिन माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण देश की जनता को देखना नसीब हुवा है।आज पूरे भारत  की जनता अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रही है।आज हम मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के मंदिर निर्माण के शिलान्यास के इस दिन को हम एक उत्सव के रूप में हर वर्ष मनाएंगे।
सोशल एंड मोटिवेशनल ट्रस्ट की चैयरमेन एवं साहित्यकार ममता सिंह ने कहा श्री राम जन्मभूमि करोड़ो लोगो की धार्मिक भावनाओं का प्रतीक है।और हम सौभाग्यशाली है कि यह ऐतिहासिक दिन हमे देखने को मिला।उन्होंने काव्य पंक्तिया इस प्रकार व्यक्त की-
आज नये युग का निर्माण हुआ,
मर्यादा पुरुषोत्तम का सम्मान हुआ,
रामराज्य आने की आहट है यह,
एक काले युग का अवसान हुआ,
आओ मिलकर खुशियाँ मनाते हैं,
अपने घरों  को दीप से सजाते हैं,
फिर से त्रेता युग का आगाज हुआ,
भारत मे फिर राम राज्य लाते हैं।