ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
दिल्ली हिंसा की चार्जशीट: सलमान खुर्शीद बोले-17000 पेज में पता नही क्या-क्या कचरा होगा
September 24, 2020 • Havlesh Kumar Patel • miscellaneous
शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। दिल्ली हिंसा की चार्जशीट में नाम आने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने दिल्ली पुलिस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि बिना पूरी पड़ताल किए चार्जशीट के नाम पर दिल्ली पुलिस ने कूड़ा दाखिल किया है, इससे पता चलता है कि 17000 पेज में क्या-क्या कचरा होगा। 
पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि प्रोवोकेटिव स्पीच की परिभाषा क्या है? संविधान का कौन सा प्रावधान कहता है कि प्रोवोकेटिव स्पीच नहीं दी जा सकती। संसद में तो रोज ही प्रोवोकेटिव स्पीच दी जाती हैं। कौन रोक रहा है और कौन रुक रहा है? मैं वहां सरकार और CAA की तारीफ करने तो गया नहीं था। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने पूछा कि अब सरकार और उनके बिल या कानून की आलोचना क्या हिंसा भड़काने का बाइस है? मैंने तो इस बाबत किताब भी लिखी, लेकिन जाहिल किताब नहीं पढ़ते, वरना उसे भी भड़काऊ कहकर उस पर पाबंदी लगा देते।
गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की चार्जशीट में सलमान खुर्शीद का भी नाम है। दिल्ली हिंसा पर पुलिस ने 17 हजार पेज की चार्जशीट दायर की है, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद, बृंदा करात और उदित राज के नाम शामिल हैं। इन पर सीएए के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। दिल्ली में इस साल 24 फरवरी से 27 फरवरी तक हिंसा हुई थी, जिसमें 50 से अधिक लोग मारे गए थे।
पुलिस की चार्जशीट में कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां ने कहा कि मैंने और खालिद सैफी ने जेसीसी के निर्देशों पर सलमान खुर्शीद, राहुल रॉय, भीम आर्मी के सदस्य हिमांशु, चंदन कुमार को बुलाया। उन्होंने भड़काऊ भाषण दिए, जिसके कारण प्रदर्शन में बैठे सभी लोग सरकार के खिलाफ गुस्से से भर जाते थे।