ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
जनपद की नोडल अधिकारी व मेरठ की मण्डलायुक्त अनीता सी मेश्राम ने की समीक्षा बैठक, कहा- हाउस टू हाउस सर्वे में कोई शिथिलता न बरती जाये, कोरोना की चेन को तोड़ना है
July 11, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी/मण्डलायुक्त मेरठ अनीता सी मेश्राम ने आज कोरोना सक्रमण के दृष्टिगत प्रशासनिक अधिकारियेां व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियेां के साथ समीक्षा की। समीक्षा में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 प्रवीण चोपडा ने बताया कि जनपद में 8 अप्रैल में प्रथम कोरोना सक्रमण का केस मिला था। अभी तक 391 केस आ चुके है जिसमें अनालाॅक के बाद कोरोना सक्रमण के केस अधिक बढे है। नोडल अधिकारी ने कहा कि अधिक से अधिक सैम्पलिंग कराई जाये, प्रत्येक दशा में कोरोना चेन को रोकना है। उन्होने कहा कि प्राईवेट डाक्टर सदिंग्ध मरीज मिलने पर तत्काल मुख्य चिकित्साधिकारी अथववा जिला सर्विंलांस अधिकारी को सूचित करे ताकि समय रहते मेडिकल टीम भेजकर आवश्यक कार्यवाही की जा सके। उनहोने कहा कि प्रत्येक सीएचसी, पीएचसी, जिला अस्पताल, कार्यालयों, प्राइवेट नर्सिंग होम, नगर पालिका, नगर पंचायत आदि स्थानों पर कोविड-19 हैल्प डैस्क की स्थापना की जाये।


नोडल अधिकारी ने कहा कि डोर टू डोर सर्वे कर रही टीम द्वारा सदिंग्ध मिलने पर जिसे खांसी, जुखाम या बुखार की शिकायत हो तत्काल उसका चैकअप/उपचार दिलाया जाये और उसकी सूचना तत्काल सम्बन्धित क्षेत्र के मेडिकल आफिसर को दी जाये। उन्होने कहा कि जो व्यक्ति सीएचसी, पीएचसी या जिला अस्पताल में आ रहा है उसका आक्सीजन लेवल टैस्ट अवश्य कराया जाये। उन्होने निर्देश दिये कि मेरठ रैफर किये जाने वाले मरीजों का पेपर वर्क पूर्ण कर भेजा जाये ताकि वहां पर पहुचने पर मरीज के उपचार में कोई देरी न हो। उन्होने कहा कि क्रिटिकल मरीज को एएलएस के माध्यम से ही भेजा जाये। उन्होने कहा कि कोविड में आयुष विभाग के डाक्टरों को भी लगाया जाये। उन्होने महिला अस्पताल व जिला चिकित्सालय में दी जा रही ओपीडी सेवाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होने हाॅई रिस्क व लो रिक्स केस व कंटेनमेंट जोन के सम्बन्ध में भी समीक्षा की।


नोडल अधिकारी अनिता सी मेश्राम ने आज मा0 जनप्रतिधियों के साथ कोरोना सक्रमण के दृष्टिगत निरीक्षण भवन में केन्द्रीय राज्यमंत्री डा0 संजीव बालियान, राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, राज्यमंत्री विजय कश्यप, विधायक बुढाना उमेश मलिक, विधायक खतौली विक्रस सैनी, विधायक पुरकाजी प्रमोद उटवाल व  जिला अध्यक्ष भाजपा विजय शुक्ला, सम्बन्धित जिलास्तरीय अधिकारियों के साथ  कोविड-19 एवं संचारी रोगों की रोकथाम से सम्बन्धित व्यवस्थाओं की गहनता से समीक्षा की गई।


        नोडल अधिकारी/मण्डलायुक्त कहा कि जिले में कोविड-19 और संचारी रोगों की रोकथाम के लिये हरसंभव प्रयास किये जा रहे है। एल वन व एल टू अस्पताल और आइसोलेशन वार्ड में क्षमता के अनुसार ही मरीजों को रखा जा रहा है। वहां मरीजों को समय से उपचार, गुणवत्तायुक्त भोजन, रहन सहन, साफ सफाई एवं अन्य व्यवस्थाओं को नियमित चैंकिग व डाक्टरों द्वारा नियमित विसिट भी की जा रही है। एम्बूलेंस व्यवस्था, सर्विलांस टीम, मोबाइल यूनिट तथा प्रतिदिन सैम्पिल कलेक्शन की भी नियमित समीक्षा की जा रही है।


       उन्होंने कहा कि कोविड-19 एवं संचारी रोगों के नियंत्रण के लिये प्रत्येक सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध एण्टी लार्वा का प्रत्येक ग्राम पंचायत में छिड़काव कराया जा रहा है। नगरीय क्षेत्रों में अनिवार्यरूप से फोगिंग व हैण्डपम्पों के आसपास सफाई रहनी कराई जायेगी। कहीं जलभराव न हो। सभी स्थानों पर नालियों एवं कूड़े की साफ सफाई पर विेशेष ध्यान दिया जायेगा। बैठक में विधायकों व जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये गये सुझावों पर अमल करने तथा व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विचारों को प्राथमिकता के साथ अनुपालन कराये जाने निर्देश दिये गये।  


इसके पश्चात नोडल अधिकारी ने बेगराजपुर मेडिकल काॅलेज में बनाये गये कोविड केयर अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होने कंट्रोल रूम जाकर सीसीटीवी के माध्यम से मरीजों को दी रही सुविधाओ का निरीक्षण भी किया। उन्होने इस अवसर पर कोरोन वार्ड में एडमिट मरीज के साथ टेलीफोन पर संवाद स्थापित करते हुए अस्पताल प्रशासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं, खाना, नाश्ता, डाक्टर की विजिट आदि के बारे में विस्तार से पूछा। मरीज द्वारा बताई गई व्यवस्थाओं से मण्डलायुक्त आश्वस्त नजर आई। उन्होने कहा कि मरीजों का बेहतर सुविधाएं प्रदान की जा रही है। उन्होने एल 1 व एल 2 के विषय मे एवं मरीजों को दी जाने वाली डाइट के विषय में भी जानकारी प्राप्त की।


      इस अवसर पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे, मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, अपर जिलाधिकारी अमित सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 प्रवीण चैपडा, सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।