ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
जनपद में पोषाहार वितरण का रोस्टर जारी
July 29, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जनपद में संचालित समस्त 2274 आंगनबाडी केन्द्रो पर 06 माह से 03 वर्ष एवं 03 वर्ष से 06 वर्ष के बच्चो, गर्भवती एवं धात्री महिलाओ तथा 11 से 14 वर्ष की विद्यालय न जाने वाली किशोरी बालिकाओ को घर-घर जाकर आंगनबाडी कार्यकत्रियों द्वारा पोषाहार का वितरण किया जायेगा। आंगनबाडी द्वारा घर-घर जाकर पोषाहार वितरण करने के पीछे सरकार का उद्देश्य लाभार्थियों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखना है।
1 जानसठ में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
2 पुरकाजी में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
3 सदर में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
4 बघरा में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
5 चरथावल में 05.08.2020 से 07.08.2020 तक
6 खतौली में 05.08.2020 से 07.08.2020 तक
7 मोरना में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
8 बुढाना में 05.08.2020 से 07.08.2020 तक
9 शाहपुर में 04.08.2020 से 06.08.2020 तक
10 शहर में 05.08.2020 से 07.08.2020 तक
पोषाहार वितरण रोस्टर जारी करते हुए सभी बाल विकास परियोजना अधिकारियों एवं मुख्य सेविकाओ को इस सम्बंध मे आदेश जारी किये जा चुके है। बाल विकास परियोजना अधिकारी, मुख्य सेविकाओ एवं आंगनबाडी कार्यकत्रियों को यह दायित्व सौंपा गया है कि वह अपने स्तर से समस्त क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधियों ब्लाॅक प्रमुख एवं सभासद को रोस्टर की सूचना देते हुए पोषाहार वितरण करना सुनिश्चित करेंगे। आंगनबाडी कार्यकत्री द्वारा आंगनबाडी केन्द्रो पर पोषाहार प्राप्त होने के पश्चात जारी रोस्टर के अनुसार निर्धारित तिथि को वितरण व्यवस्था से सम्बंधित सभी गाइड लाईन्स जैसे-सोशल डिस्टेंन्सिग (जिसमें लाभार्थियों के बीच में कम से कम एक मीटर की दूरी अवश्य रहे) का पालन सुनिश्चित किया जायेगा। आंगनबाडी कार्यकत्रियों एवं लाभार्थियों द्वारा मुंह ढंकने हेतु मास्क/दुपट्टे/गमछे का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जाएगा। प्रत्येक घण्टे मे कम से कम 20 सेकेण्ड तक साबुन से हाथ धोया जायेगा। इस दौरान, आंख, नाक व मुंह को नही छुआ जाएगा। अनावश्यक भीड एकत्रित नही की जाएगी। आंगनबाडी कार्यकत्रियों द्वारा पोषाहार वितरण के दौरान लाभार्थियों के परिवार के सदस्यों को आरोग्य सेतु एप के बारे में अवगत कराया जाये एवं अपनी उपस्थिति मे आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाया जाये। इस कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता या लापरवाही क्षम्य नही होगी। इस दौरान यदि बाहर से कोई व्यक्ति आये या कोई व्यक्ति खांसी एवं जुकाम से बीमार हो तो उसकी सूचना से भी अवगत कराना सुनिश्चित करेंगी।