ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
जिलाधिकारी ने सदर ब्लाक से किया राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारम्भ, शपथ दिलायी, वृक्षारोपण किया व रैली को किया रवाना
September 7, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर।  जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज सदर ब्लाॅक में पोषण अभियान के अन्तर्गत राष्ट्रीय पोषण माह का दीप प्रज्ववलन व फीता काटकर शुभारम्भ किया। उन्होने उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह योजना छोटे बच्चों, धात्री महिलाओ, कन्याओं के लिए अत्यन्त लाभकारी है। इसका लाभ प्राप्त करे। उन्होने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार छोटे बच्चो को जो आगे देश का भविष्य है उनके पोषण का ध्यान रख रही है। उन्होने कहा कि यही वह बच्चे है, जो आगे युवा बनेगे अगर युवा ही कमजोर होगा तो जनपद, प्रदेश व देश का भविष्य कैसा होगा, इसलिए हमें इस ओर बहुत ध्यान देने की आवश्यकता है। खासकर 6 माह के बाद के बच्चों पर।  

उन्होने कहा कि पोषण पोषाहार की व्यवस्था को अधिक से अधिक मजबूत किया जाये जिससे कि जनपद को कुपोषण मुक्त किया जाये। उन्होने कहा कि जनपद में कोई भी बच्चा अति कुपोषित नही रहना चाहिए। उसके खान-पान पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिएं। उन्होने कहा कि बच्चों,गर्भवती महिलाओ व धात्री महिलाओ चतुरंगी आहर दिया जाये। उनको दूध-दही विटामिन आदि दे तथा डाॅक्टर अति कुपोषित व कुपोषित बच्चों के इलाज पर विशेष ध्यान दे। उन्होने कहा कि अगर नीव ही खराब होगी तो अच्छी इमारत कभी खडी नही हो सकती इसलिए आवश्यकता है कि नीव रूपी बच्चों को आरम्भ से पोष्टिक आहार दिया जाये।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि पोषण मिशन से सम्बन्धित कोई भी विभाग व अधिकारी अपने कार्य में कोई लापरवाही न करे। पोषण अभियान के अन्तर्गत चलाये जा रहे पोषण माह का कार्य पूर्ण मनायेाग के साथ पूर्ण किया जाये। उन्होने कहा कि यह शासन व समाज के लिए महत्वपूर्ण योजना हैै। उन्होने कहा कि 6 माह के ऊपर के बच्चों की अधिक देखभाल की जाये।  उन्होने कहा कि शासन द्वारा इसे कुपोषण को खत्म किये जाने के लिए चलाया जा रहा है। उन्होनेे कहा कि इस योजना का आत्मसात करे। सभी विभागों को अपनी अपनी भूमिका का पता होना चाहिए। उन्होने कहा कि गांव-गांव जाकर लोगो को जागरूक किया जाये। उन्होने कहा कि जहां जहा कुपाषित बच्चे है, ऐसे स्थानों पर कारणों का पता लगाये जाये और उन कारणों को दूर करने के पूर्ण मनोयोग से प्रयास किया जाये तभी योजना का सफल क्रियान्वयन हो पायेगा।

उन्होने कहा कि इस योजना में स्वास्थ्य विभाग, पंचायतराज विभाग, खाद एवं रसद विभाग, शिक्षा विभाग आदि सम्बन्धित विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करे। बच्चों के सर्वागींण विकास में जीवन के पहले एक हजार दिनों का अत्यधिक महत्व होता है। प्रायः देखा जाता है कि बच्चों में कुपोषण की गम्भीरता 06 माह से 02 के मध्य तेजी से बढती है। जिसमें सुधार के लिये राष्ट्रीय स्तर पर पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सदर ब्लाक के प्रागंण में वृक्षारोपण किया। उन्होने वहां उपस्थित जनसमूहों को शपथ भी दिलायी तथा रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना भी किया।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी वाणी वर्मा, बीडोओ सदर ग्राम सहित अन्य विभागों के अधिकारी सीडीपीओ व सुपरवाईजर उपस्थित रहे।