ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
कवयित्री अंशु पाल "अमृता" डॉ. सरोजिनी नायडू अंतरराष्ट्रीय अवार्ड से संम्मानित
September 22, 2020 • Havlesh Kumar Patel • miscellaneous
डॉ. शम्भू पंवार, नई दिल्ली। नोएडा फ़िल्म सिटी स्थित एशियन अकेडमी ऑफ आर्ट्स एवं अंतरराष्ट्रीय महिला मंच द्वारा अंतरराष्ट्रीय  ख्याति नाम साहित्यकार, कवयित्री व शायरा सुश्री अंशु पाल "अमृता" (नई दिल्ली) को भारत कोकिला डॉ. सरोजिनी नायडू अवार्ड से संम्मानित किया।
छठवें ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल के अवसर  पर मारवाह स्टूडीओ और एशियन अकैडमी ओफ़ आर्ट्स के निर्देशक डॉ संदीप मारवाह और आइ सी एम इ आइ के जनरल सेक्रेट्री डॉ अशोक त्यागी ने सुश्री अंशु पाल "अमृता"  को  यह अवार्ड प्रदान कर संम्मानित किया।
बता दें कि कवयित्री, लेखिका अंशु पाल का जन्म पिथौरागढ़,उत्तराखंड के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ। इनकी बचपन से ही लेखन में रुचि थी,13 वर्ष की आयु में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था। अंशु पाल की अधिकतर रचनाये  प्रेम रस पर आधारित होती है। अंशु पाल हिंदी, अंग्रेजी, पंजाबी, बंगला, जर्मन सहित 5 भाषाओं की ज्ञाता है। इनकी अंग्रेजी में 3 पुस्तके माई एक्स्प्रीमेन्ट विद लव,मयूर, व लेट लव प्रीवेल ऑन अर्थ, प्रकाशित हो चुकी है। अंशु पाल  हिंदी व अंग्रेजी काव्य गोष्ठीयो में एंकरिंग भी बहुत ही उम्दा ओर मनमोहक  करती है। 
        कवयित्री अंशु पाल ने  काव्य शैली से राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपनी विशेष पहचान कायम की है। इनको पूर्व में पांचवे ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल अवार्ड, महारानी लक्ष्मी बाई सम्मान, हरिवंशराय बच्चन अवार्ड,सुभद्रा कुमारी चौहान सम्मान, साहित्य के सितारे, तथा मां हंस वाहिनी उपाधि सहित अनेक राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय सम्मान से संम्मानित किया जा चुका है।बीएमडब्ल्यू कंपनी के क्रय शाखा में कार्यरत कवयित्री अंशु पाल "अमृता" ने  इस सम्मान के लिए डॉ. संदीप मारवाह, डॉ सुशील भारती और आइसीएमइआइ का हार्दिक आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह सम्मान उन्हें अपने क्षेत्र में निरंतर बेहतर कार्य करने के लिये नित नई ऊर्जा देता रहेगा और वे आगे भी इसी तरह सार्थक प्रयास करने की शपथ लेती हैं।