ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
लोक व्यवहार /नेग रिवाज
September 30, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Himachal
प्रीति शर्मा "असीम", शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।
 
लोक व्यवहार /नेग रिवाज,
यहां खुशियां लाते हैं ।
कई बार आमदनी के कारण, 
इंसान की हैसियत घटाते है।
 
लोक व्यवहार/ नेग रिवाज, 
समाज के सभी वर्गों में ,
रीस /चलन को बढ़ाते है।
 
जिनके पास आमदनी नहीं होती। 
वह कर्ज लेकर इसे निभाते हैं।
लोक व्यवहार /नेग रिवाज ,
यहां खुशियां लाते है।
 
कुछ लोग दिखावे में ,
इस कदर अंधे हो जाते है।
बेटी को देने के लिए ,
खरीदी हुई खुशियों से ,
बेटी के जीवन का ,
सौदा कर जाते है।
 
लोक व्यवहार/ नेग रिवाज
यहां खुशियां लाते है।
 
कुछ लोग लालच से ,
इतने भर जाते हैं ।
लोक व्यवहार/ नेग रिवाजों को, 
अपने लालच के लिए,
समाज में,
दोहरी मानसिकता भर जाते है। 
 
नालागढ़, हिमाचल प्रदेश