ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
महात्मा गाॅधी और लाल बहादुर शास्त्री के जन्म दिवस की पूर्व संध्या पर श्रद्धांजलि अर्पित की
October 1, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। श्रीराम काॅलेज के सभागार में राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्म दिवस की पूर्व संध्या को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाते हुये देश की इन दोनो महाविभूतियों को याद कर श्रद्धांजली अर्पित की गई।
इस अवसर पर, श्रीराम काॅलेज के निदेशक डा0 आदित्य गौतम, श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल, डीन, श्रीराम काॅलेज आफ मैनेजमेंट पंकज शर्मा तथा सभी विभागाध्यक्षों ने महात्मा गाॅधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर पुष्प अर्पित किये। इस अवसर पर श्रीराम काॅलेज के निदेशक डा0 आदित्य गौतम ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी का विश्व के इतिहास में नाम अमर है। इनकी उपलब्धियो एवं कार्यो को भुलाया नहीं जा सकता। मानवता की पराकाष्ठा पर अपना स्थान निश्चित किया हैै। उन्होने कहा कि आज हमें उनके जीवन के मार्ग का हमें अनुसरण कर अपने जीवन को सफल बनाना चाहिये।
इसी क्रम में श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल ने कहा कि आज राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी आज हमारे बीच में नहीं है, फिर भी उनके द्वारा प्रज्जवलित दिव्य ज्योति आज हमारा मार्ग दर्शन करने का कार्य कर रही है। नैतिक विचारों की जो पराकाष्ठा को प्राप्त महात्मा गाॅधी के कार्यो को आज समूचे विश्व में अनुकरण किया जा रहा है। मानव जीवन में समाज की सार्थकता एवं देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत महात्मा गाॅधी ने समूचे भारत को एक रास्ता दिखाया व रास्ता सत्य और अहिंसा का था जिस पर चलकर समूचा मानव आज भी सुख की अनुभूति कर रहा है।


इस अवसर पर पंकज शर्मा डीन श्रीराम काॅलेज आफ मैनेजमेंट ने राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी की उपलब्धियों को बताते हुये कहा कि आज पूरा विश्व महात्मा गाॅधी का अनुकरणीय बना हुआ है। आप के त्याग एवं बलिदान को भूलाया नहीं जा सकता है। समाज हित एवं देश हित के लिये आप हमेशा तत्पर रहें। शैक्षिक दृष्टिकोण से यदि देखा जाये तो बेसिक शिक्षा की नींव भी महात्मा गाॅैधी ने रखी थी।
इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त शिक्षक गण, शिक्षिकाओं ने महात्मा गाॅधी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।