ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
पहाड़ी गांधी बाबा के स्मारक के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रकिया शुरू
July 11, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Himachal
शि.वा.ब्यूरो, शिमला। पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम की 138 वीं जयंती पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने संदेश में कहा कि हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी द्वारा हर साल 11 जुलाई को पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम जयंती समारोह का आयोजन किया जाता है, जिसमें साहित्यिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम करवाए जाते हैं। इस बार कोरोना महामारी के कारण यह आयोजन फेसबुक के माध्यम से किया जा रहा है। पहाड़ी गांधी बाबा कांशीराम का सारा जीवन राष्ट्र को समर्पित रहा है। उन्होंने गीतों व कविताओं के माध्यम से स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए जनजागरण अभियान चलाया।  उन्होंने अपने जीवन का अधिकांश समय जेल में बिताया और आजादी मिलते तक काले कपड़े पहनने का व्रत लिया। प्रदेश सरकार द्वारा गत वर्ष पहाड़ी गांधी बाबा कांशीराम का स्मारक बनाने की घोषणा की गई थी, जिसके लिए मकान तथा भूमि के अधिग्रहण की प्रकिया आरंभ कर दी गई है। उन्होंने पहाड़ी गांधी बाबा को श्रद्वासुमन अर्पित किए। इस अवसर पर कला संस्कृति विभाग की निदेशक कुमुद सिंह ने कहा कि विभाग के स्मारक बनाने के प्रस्ताव को सरकार की प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के बाद विभाग इस पवित्र स्थल को स्मारक के रूप में विकसित करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ेगा।
पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम जयंती समारोह की शुरूआत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के संदेश के साथ हुई। 11 बजे समारोह के पहले सत्र का शुभारंभ वरिष्ठ साहित्यकार गौतम शर्मा व्यथित के वक्तव्य के साथ हुआ। उन्होंने पहाड़ी गांधी बाबा कांशीराम के व्यक्तित्व व कृतित्व के कई अनछुए पहलुओं पर प्रकाश डाला। इस सत्र में शाहपुर के गायक विक्रांत ने बाबा कांशी द्वारा लिखे और गाये क्रांतिगीतों का गायन किया। उन्होंने बाबा के मुशूहर गीतों को अपनी मखमली आवाज में गाकर समां बांध दिया। इस सत्र में आयोजित कविता पाठ में अदिति गुलेरी, सुमित राज, कल्पना गांगटा, मुनीष तन्हा, उमा ठाकुर, कुलदीप शर्मा, प्रतिभा शर्मा, दीपक कुल्लुवी, रविता चौहान व दीपक भारद्वाज ने कविता पाठ किया। 
समारोह का दूसरा सत्र दोहपर बाद चार बजे शुरू हुआ। इस सत्र में आशा पठानिया, राजीव त्रिगर्ती, किरण गुलेरिया, मदन हिमाचली, राधिका गुलेरी भारद्वाज, अशोक दर्द, इंदु नवनीत भारद्वाज, अशोक कालिया, अर्चना शर्मा, डाक्टर अजय पाठक, कुमुद, दीनदयाल शर्मा, हरिप्रिया व नीतू वर्मा की कविताएं शामिल रहीं। कार्यक्रम के तीसरे व आखिरी सत्र की शुरूआत पूनम शर्मा व उनके शिष्यों की ओर से प्रस्तुत सरस्वती वंदना के साथ हुई। इस सत्र में सोनिया दत्त, आत्मा रंजन, सरोज मरमार, शंकर वशिष्ट, मीना सूद, रत्न लाल शर्मा, कृष्णा ठाकुर, डॉ. कर्म सिंह, संदेश शर्मा, विक्रांत, डॉ. प्रियंका वैद्य, रजनीकांत, डेजी शर्मा, विनोद भावुक, राकेश कोरला, ऋषि राम भारद्वाज, विनोद शर्मा, संतोष गर्ग व सतीश रत्न ने अपनी रचनाओं का पाठ किया।  
पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम राज्य स्तरीय जयन्ती समारोह कार्यक्रम का संयोजन हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के सचिव डॉ. कर्म सिंह ने किया और ऑनलाइन कार्यक्रम का सम्पादन एवं प्रचार-प्रसार हिंतेंद्र शर्मा द्वारा किया गया।