ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
राजधानी में किसान की हत्या पर CM योगी आदित्यनाथ सख्त, एसपी रूरल का तबादला, इंस्पेक्टर संस्पेंड
September 13, 2020 • Havlesh Kumar Patel • UP
शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। राजधानी में मैंगों बेल्ट के रूप में विख्यात मलिहाबाद में किसान की हत्या के मामले में बड़े बवाल के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने बेहद सख्त रवैया अपनाया है। इस मामले के बड़ा रूप लेने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर लखनऊ के एसपी ग्रामीण का तबादला किया गया है जबकि इंस्पेक्टर मलिहाबाद को निलंबित कर दिया गया है।लखनऊ के एसपी ग्रामीण आदित्य लांगे को हटाया गया है। उनकी जगह पर एसपी सीबीसीआइडी लखनऊ से हृदेश कुमार को तैनाती मिली है। इसके अलावा मलिहाबाद के इंस्पेक्टर सियाराम वर्मा को निलंबित कर दिया गया है। आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने सीओ मलिहाबाद नईम उल हसन को भी कड़ी फटकार लगाई है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के मलिहाबाद की घटना पर कड़ी कार्रवाई करते हुए एसपी ग्रामीण को हटाने के साथ ही इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही इस प्रकरण में उन्होंने सभी नामजद पर एनएसए लगाने का निर्देश दिया है।मलिहाबाद के दिलावरनगर निवासी किसान रामविलास (32) की हत्या की घटना का सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया। आनन-फानन पुलिस प्रशासन के अफसर हरकत में आ गए। इंस्पेक्टर सियाराम वर्मा को निलंबित कर दिया गया। रामविलास की पत्नी सुमन देवी के बैंक खाते में शासन की ओर से तात्कालिक तौर पर पांच की राहत धन राशि भी हस्तांतरित की गई है। पात्रता के अनुसार उन्हेंं ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत आवास के साथ ही विधवा पेंशन एवं मृतक के पिता को वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृत की जा रही है। डीएम अभिषेक प्रकाश आर्थिक सहायता देने स्वयं पहुंचे। पीडि़त परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। उन्होंने बताया कि घटना की जांच पुलिस उपाधीक्षक करेंगे। दोषियों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।
डीएम ने इस मामले में शरारती तत्वों व माहौल बिगाडऩे वाले व्यक्तियों को भी चिन्हित करते हुए उनके लाइसेंस निरस्तीकरण के निर्देश दिए।शुक्रवार को घरवालों ने ग्रामीणों संग लखनऊ-हरदोई राजमार्ग पर प्रदर्शन कर पांच घंटे जाम रखा था। नारेबाजी पुलिस प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। काफी प्रयास के बावजूद पुलिस-प्रशासन के अधिकारी जब जाम नहीं हटवा सका तो शाम को हल्का बल प्रयोग कर लाठी फटकारी थी। जिसपर ग्रामीण उग्र हो गए और पथराव शुरू कर दिया। पथराव में कुछ पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गए। प्रदर्शन में शामिल महिलाओं ने लाठी लेकर कुछ पुलिसकॢमयों को दौड़ाया भी। आसपास के गांवों के ग्रामीणों ने गोली चलने का भी आरोप लगाया।गोली लगने से हाइवे किनारे पानी लेने जा रहे भदोईया गांव निवासी पप्पू गंभीर रूप से घायल हो गये। उन्हेंं ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। वहां पर देर शाम तक ग्रामीण डटे रहे। पुलिस की लाठीचार्ज से तितर-बितर हुए तो गांव में डेरा डाल दिया। आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह भी मौके पर पहुंची थी। बताया था कि गोली पुलिस की ओर से नहीं चली है, न ही इसकी पुष्टि है। तीन नामजद हत्यारोपितों मुफीद, गुलाम अली व मुस्तकीम को गिरफ्तार करने के बाद अन्य की तलाश जारी है। प्रदर्शन में शामिल उपद्रवियों को चिन्हित किया जा रहा है। उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्जकर कार्रवाई की जाएगी।
मृतक के भाई अरविंद की तहरीर पर दिलवारनगर गांव निवासी शानू, गुड्डू, मुफीद, गुलाम अली और मुस्तकीम पर पर गैरइरादतन हत्या, एससी-एसटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज हुई। गैरइरादतन हत्या की धारा को हत्या में तब्दील कर लिया गया है। गांव में माहौल सामान्य है। पुलिस बल तैनात कर दिया गया।मृतक के भाई अरविंद ने तहरीर में कहा है कि आरोपितों ने पुरानी रंजिश में घटना को अंजाम दिया। गुरुवार शाम सात बजे वह भाई रामविलाश के साथ खेत में पानी लगा रहे थे। आरोपितों ने बाइक से टक्कर मार रामविलास को खेत में हिरासत गिरा दिया। विरोध पर जमकर पीटा और धमकी देते हुए भाग निकले। अधिक चोट लग जाने से उसकी मौत हो गई। इसके बाद मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीकृष्ण लोधी ने पहुंच ग्रामीणों को समझाकर मुआवजा व आरोपितों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया।