ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
शहीद मंगल पांडे राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में शारीरिक शिक्षा, योग्य व खेल विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय वेबीनार आयोजित
September 20, 2020 • Havlesh Kumar Patel • miscellaneous
शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पांडे राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में शारीरिक शिक्षा विभाग के द्वारा 'समसामयिक वैश्विक परिदृश्य में शारीरिक शिक्षा, योग्य व खेल' विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। वेबीनार की मुख्य संरक्षक डॉ वंदना शर्मा, निदेशक, उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन , अध्यक्ष महाविद्यालय प्राचार्य प्रोफेसर डॉ० दिनेश चंद, समन्वयक लैफ्टिनेंट (डॉ०) लता कुमार व आयोजन सचिव डॉ० पूनम भंडारी रहे।
वेबिनार की शुरुआत डॉ० राधा रानी, सहायक प्रोफेसर-संगीत विभाग के द्वारा मां शारदे की सरस वंदना से की गयी। तत्पश्चात वेबिनार समन्वयक एसोसिएट प्रोफेसर और विभागाध्यक्ष समाजशास्त्र डॉ० लता कुमार ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी गणमान्य अतिथियों, विद्वत राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय वक्ताओं, सहयोगियों और प्रतिभागियों का औपचारिक स्वागत किया तथा इस वेबिनार की मुख्य पृष्ठभूमि और प्रासंगिकता का उल्लेख किया। वेबीनार की आयोजन सचिव डॉ पूनम भंडारी ने सेमिनार की आवश्यकता व महत्व बताते हुए शारीरिक शिक्षा योग वह खेलों की वैश्विक परिप्रेक्ष्य पर प्रकाश डाला।
वेबीनार में विभिन्न देशों और राज्यों से कुल 7 वक्ता उपस्थित रहे। सर्वप्रथम डॉ० राकेश तोमर,  किंग फहाद यूनिवर्सिटी ऑफ पैट्रोलियम एंड मिनरल्स, सऊदी अरेबिया ने अपने वक्तव्य में उच्च शिक्षा में शारीरिक शिक्षा की बात कही। तत्पश्चात डॉ० विरेंद्र झाझरिया ने अपने उद्बोधन में समसामयिक परिपेक्ष्य में शारीरिक शिक्षा व खेल विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किए। डॉ० गुलाब सिंह रूहल , खेल निदेशक ,चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ ने अपने प्रस्तुतीकरण में कहा कि शारीरिक शिक्षा व खेल एक दूसरे के पूरक होते हैं, पाठ्यक्रम में  व छात्र के सर्वांगीण विकास में इनका योगदान बेहद सहायक होता है ।ऑस्ट्रेलियन कैथोलिक यूनिवर्सिटी ,सिडनी, ऑस्ट्रेलिया से डॉ० श्रद्धेय राठौड़ ने वरिष्ठ आयु वर्ग के  लोगों के लिए शारीरिक दक्षता व पोषण विषय पर अपना वक्तव्य दिया। 
केंद्रीय विश्वविद्यालय, इलाहाबाद में शारीरिक शिक्षा की विभागाध्यक्ष  डॉ ० अर्चना चहल ने कोरोना काल के दौरान व बाद के समय में शारीरिक शिक्षा व फिटनेस के बारे में अपने विचार व्यक्त किए। उत्तर प्रदेश समन्वयक, PEFI से डॉ. श्याम नारायण सिंह ने प्राइवेट संस्थानों में काम कर रहे शारीरिक शिक्षकों की आर्थिक परिस्थितियों की चर्चा की। डॉ० स्वतेंदर सिंह, सरस्वती डिग्री कॉलेज ,हाथरस, उत्तर प्रदेश ने समसामयिक परिदृश्य में शारीरिक शिक्षा के कार्यक्रम व सिलेबस से संबंधित विषयों पर अपने विचार प्रस्तुत प्रस्तुत किए। अध्यक्षीय उद्बोधन में महाविद्यालय प्राचार्य प्रोफेसर (डॉ०) दिनेश चंद ने वर्तमान समय में शारीरिक शिक्षा व खेलों की प्रासंगिकता पर प्रकाश डालते हुए शारीरिक दक्षता व स्वास्थ्य के प्रति सभी का व्यक्तिगत स्तर पर आह्वान किया। कार्यक्रम के अंत में आयोजन सचिव डॉ० पूनम भंडारी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अंतरराष्ट्रीय वेबीनार में कुल  1002 पंजीकरण उल्लेखनीय रहे।