ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
श्रीराम काॅलेज में शैक्षिक संस्थानों में आतंरिक गुणवत्ता योजना का निष्पादन विषय पर आयोजित कार्यशाला का दूसरा दिन, एकेडिमिक एडमिनिस्ट्रेशन थीम पर हुई चर्चा
June 23, 2020 • Havlesh Kumar Patel • Muzaffarnagar

 

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। श्रीराम काॅलेज में शैक्षिक संस्थानों में आतंरिक गुणवत्ता योजना का निष्पादन विषय पर आयोजित दो सप्ताह अवधि की कार्यशाला के दूसरे दिवस पर आज एकेडिमिक एडमिनिस्ट्रेशन थीम पर चर्चा हुई। परिचर्चा की शुरूआत करते हुये श्रीराम काॅलेज के कम्प्यूटर विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डा0 नीतू सिंह ने कहा कि महाविद्यालय में छात्र-छात्रों के प्रवेश में एडमिशन प्रकोष्ठ का एक बडा योगदान है। उन्होंने ’’मैथर्ड ऑफ़ एक्सेक्यूटिंग इंटरनल क्वालिटी प्लान इन एजूकेशनल इंस्टीटूशनल’’ विषय पर बोलते हुये कहा कि इंटरनल क्वालिटी असुरेन्स में एडमिशन की अपनी एक अलग ही भूमिका है। शैक्षिक, भौतिक मूलढांचा, तिथि प्रबंधन, संसाधन प्रबंधन, अनुशासन और सुरक्षा इवेन्ट इन सभी के द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से रेवेन्यू विकसित होता है और ये सभी प्रवेश प्रक्रिया से संबंधित होते है। यदि इन सब बातों का ध्यान नहीं रखा जायेगा तो वे प्रवेश प्रक्रिया को प्रभावित करेंगे। इसी के साथ प्रोफेसर नीतू ने महाविद्यालय की प्रवेश समिति के उददेश्य के बारे मे विस्तार पूर्वक बताते हुये कहा कि विद्यार्थियों को सर्वप्रथम एडमिशन काउंसलर उसके इंटर के विषय के अनुरूप महाविद्यालय में संचालित कोर्स चयनित करने में सहायता करते है। साथ ही कोर्स पूर्णकर मिलने वाले रोजगार के बारे में विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करते है। विद्यार्थियों को काउंसिलिंग महाविद्यालय में पहुचने पर ही मिलती है। मेरिट में आये विद्यार्थी को उसकी मेरिट के अनुसार फीस में छूट दिया जाता है। गरीब एवं आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्राओं को महाविद्यालय में स्थापित श्रीराम चैरिटेबिल ट्रस्ट की ओर से छात्रावृत्ति प्रदान की जाती है जिससे वे अपनी शिक्षा को आसानी से पूरा कर सके। इसके अलावा श्रीराम ग्रुप आफ कालिजेज में प्रत्येक वर्ष छात्राओं को प्रोत्साहित एवं उकी प्रतिभा को निखारने के लिये टेलेन्ट सर्च प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है जिसमें श्रीराम ग्रुप आफ कालिजेज में संचालित सभी कोर्सेज में कुछ फ्री सीट, 50 प्रतिशत डिस्काउंट तथा 25 प्रतिशत तक छात्राओं को फीस में छूट दी जाती है। 


प्रोफेसर नीतू ने कहा कि देश विदेश में फैली हुई महामारी कोविड-2019 की समस्या को ध्यान में रखते हुये इस वर्ष महाविद्यालय में यह टैलेन्ट सर्च छात्र एवं छात्राओं दोनो के मनोबल को बढावा देने के लिये आयोजित किया जायेगा, ताकि कोई भी विद्यार्थी कोरोना काल के चलते शिक्षा से वंचित न रह जाए। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय की प्रवेश प्रक्रिया को पूर्ण करने में पारदर्शिता का सम्पूर्ण ध्यान रखा जाता है। इसी क्रम में विद्यार्थी की सुगमता के लिये महाविद्यालय की वेबसाइट पर एडमिशन हेतु वेबपोर्टल पर प्रवेश प्रक्रिया उपलब्ध करायी गई है, जिससे विद्यार्थी अपने घर से ही एडमिशन के लिये रजिस्ट्रेशन करा सकते है। साथ ही महाविद्यालय द्वारा छात्र-छात्राओं के प्रवेश के लिये विश्वविद्यालय आनलाईन वेबपोटल पर पूर्णतया निःशुल्क आनलाईन रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। महाविद्यालय की प्रवेश प्रकोष्ठ से शरद कौशिक ने भी काॅपेरेट रिसर्च सेंटर के विषय पर व्याख्यान दिया। 
   इस अवसर पर श्रीराम काॅलेज निदेशक डा0 आदित्य गौतम, श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल, श्रीराम काॅलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता, श्रीराम गर्ल्स काॅलेज के निदेशक डा0 मनोज धीमान, श्रीराम काॅलेज ऑफ़ मैनेजमेंट के डीन पंकज शर्मा, श्रीराम काॅलेज के एकेडिमिक डीन डा0 विनित शर्मा, पत्रकारिता एवं जनसंचार के विभागाध्यक्ष रवि गौतम, कम्प्यूटर एप्लीकेशन विभाग के डीन निशांत राठी, प्रोफेसर नीतू सिंह, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के विभागाध्यक्ष विवेक त्यागी, वाणिज्य के विभागाध्यक्ष डा0 सौरभ मित्तल, बेसिक साइंस की विभागाध्यक्ष डा0 पूजा तोमर, बायोसाइंस के विभागाध्यक्ष डा0 सौरभ जैन आदि 100 लोग तकरीबन वेबिनार में उपस्थित रहे।