ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
सिटी मोन्टेसरी स्कूल ऑनलाइन मनाया गया शिक्षक दिवस समारोह
September 5, 2020 • Havlesh Kumar Patel • miscellaneous

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा आज शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर बड़े उत्साह व भव्यता के साथ ऑनलाइन शिक्षक दिवस समारोह मनाया गया। समारोह में मुख्य अतिथि वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अपनी वित्तमंत्री ऑनलाइन उपस्थित रहे।  समारोह की अध्यक्षता रजिस्ट्रार, फर्म्स, सोसाइटीज एवं चिट्स, उ.प्र.अनिल मिश्रा ने की। समारोह में सीएमएस के सभी 18 कैम्पस की प्रधानाचायों सहित लगभग 3000 शिक्षकों व कार्यकर्ताओं ने ऑनलाइन जुड़कर समारोह की भव्यता में चार-चांद लगा दिये। सीएमएस संस्थापक जगदीश गाँधी व डा. भारती गाँधी, सीएमएस प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन एवं सीएमएस के डायरेक्टर ऑफ स्टेट्रजी रोशन गाँधी ने विद्यालय के सभी शिक्षकों के प्रति हार्दिक आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया। इससे पहले सीएमएस के क्वालिटी अश्योरेन्स एवं इनोवेशन डिपार्टमेन्ट की हेड एवं सुपीरियर प्रिन्सिपल सुस्मिता बासु ने मुख्य अतिथि समेत अन्य गणमान्य अतिथियों एवं शिक्षकों का हार्दिक स्वागत-अभिनन्दन किया।

इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्य अतिथि सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में सीएमएस ने न सिर्फ स्थानीय स्तर पर अपितु, वैश्विक स्तर पर सराहनीय कार्य किया है और यह ख्याति सीएमएस ने अपने विचारों व सिद्धान्तों के दम पर हासिल की है, जिसमे सीएमएस के शिक्षकों का अहम योगदान है। कोरोना काल में सीएमएस शिक्षकों ने जिस प्रकार छात्रों की शिक्षा पर कोरोना का प्रभाव नहीं पड़ने दिया, वह अभूतपूर्व है। श्री खन्ना ने कहा कि शिक्षा का ध्येय संपूर्ण मानव बनाना है, जिसमे भौतिक विकास के साथ जीवन मूल्यों व संस्कारों का विकास भी शामिल है। डा. राधाकृष्णन ने भी ऐसी ही शिक्षा पद्धति  के विस्तार पर बल दिया है। समारोह की अध्यक्षता करते हुए अनिल मिश्रा ने कहा कि सामाजिक विकास में शिक्षकों की भूमिका सदैव प्रासंगिक रहेगी। राष्ट्र निर्माण में जितनी भूमिका शिक्षकों की है, उतनी किसी अन्य की नही है। सीएमएस के शिक्षकों ने अपनी कड़ी मेहनत, लगन व कर्तव्यनिष्ठा से विद्यालय के साथ ही लखनऊ का नाम भी रोशन किया है। इससे पहले शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों के प्रस्तुतिकरण से शिक्षक दिवस समारोह का शुभारम्भ हुआ। स्कूल प्रार्थना, सर्व-धर्म प्रार्थना, विश्व शान्ति प्रार्थना, स्वागत गान, गीत ‘जो तुमने करके दिखलाया’, कव्वाली एवं डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के विचारों पर आधारित विभिन्न शानदार प्रस्तुतियों ने सभी को भावविभोर कर दिया।

                इस अवसर पर डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि हमारे पास ऐसे शब्द नहीं है, जिनसे हम अपने शिक्षकों को धन्यवाद दे सकें। हमारे शिक्षकों ने अनेको ऐसे कीर्तिमान स्थापित किए हैं, जो लगभग असंभव लगते थे। आपने 5 बच्चों से शुरू करके इस विद्यालय को गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में स्थान दिलाया है। डा. भारती गाँधी ने कहा कि आज हम सब महान शिक्षक, विचारक व पूर्व राष्ट्रपति डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जयंती मना रहे हैं। डा. राधाकृष्णन वास्तव में वैश्विक नागरिक थे, उनके विचार सभी देशों व सारी मानवता के लिए प्रासंगिक है और सीएमएस के शिक्षक भी उन्हीं के बताये रास्ते पर चल रहे हैं। शिक्षकों की बदौलत ही सीएमएस को यूनेस्को पीस प्राइज से नवाजा गया है। उन्होंने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी।