ALL social education poem OLD miscellaneous Muzaffarnagar UP National interview Himachal
तिरंगा प्यारा
August 15, 2020 • Havlesh Kumar Patel • poem
आशुतोष, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।
 
तिरंगा आन में है तिरंगा शान में  है 
तिरंगा बान में है तिरंगा जान में है
रहे तू आबाद तिरंगा जिन्दाबाद-3
 
वतन परस्ती की वचन परस्ती की
शपथ परस्ती की तिरंगा दिल में है
रहे तू आबाद तिरंगा जिन्दाबाद-3
 
गद्दारो को सबक देश भक्तो की कदर
शान से ये तो  सबके दिमाग में  है 
हर वतन परस्त का तिरंगा ख्याल में है ।
रहे तू आबाद तिरंगा जिन्दाबाद-3
 
लहराये तो हर दिल अजीज बन जाये
झुक जाये तो हर दिल मुरझाए
वतन पे मिटने वाले तिरंगा ख्याल में है  
रहे तू आबाद तिरंगा जिन्दाबाद-3
 
जवा दिल की धड़कन में  है 
हर मसला का समाधान में  है 
तिरंगा एकता की मिसाल में  है 
रहे तू आबाद तिरंगा जिन्दाबाद-3
 
पटना, बिहार